Monday February 26, 2018
234x60 ads

घातक हो सकता है सामान्य सिरदर्द

AdministratorMay 10, 2013 | स्वास्थय

सिरदर्द एक ऐसी आम समस्या है जिससे हर कोई अपने जीवन में कभी न कभी पीड़ित होता ही है। सिरदर्द होने के कई कारण हो सकते हैं लेकिन इसके आम कारणों में दृष्टिदोष से लेकर साइनस परेशानी शामिल हैं। गंभीर कारणों में मस्तिष्क में ट्यूमर भी हो सकता है। वर्तमान समय की भागदौड़ वाली जीवनशैली के कारण लोगों में सिरदर्द एक आम समस्या बन गई है। सिरदर्द होने के आम कारणों में तनाव मुख्य रूप से जिम्मेदार होता है जो आज के समय में लगभग सभी को होता है। उच्च रक्तचाप से पीड़ित होने पर भी सिरदर्द की समस्या सामने आ सकती है। उच्च रक्तचाप होने का खतरा आमतौर पर 40 वर्ष की आयु के बाद होता है लेकिन आजकल कम आयुवर्ग के लोग भी इससे पीड़ित हो रहे हैं। कभी-कभी मस्तिष्क में ट्यूमर होने से भी सिरदर्द की समस्या हो सकती है, लेकिन ऐसा बहुत कम मामलों में होता है।

कम रक्तचाप भी सिरदर्द का कारण हो सकता है। इसके अलावा आम सर्दी होने अथवा साइनस में सूजन से भी सिरदर्द की समस्या सामने आ सकती है। सिरदर्द से बचने के लिए व्यक्ति को तनाव से बचना चाहिए।  तनाव के कारण कंधों, गर्दन और खोपड़ी की मांसपेशियों में संकुचन होता है जिससे सिरदर्द की समस्या सामने आती है। कम नींद, खाना समय पर नहीं खाने तथा शराब एवं मादक पदार्थों के सेवन से भी सिरदर्द हो सकता है। चॉकलेट और पनीर जैसी चीजों के सेवन से भी सिरदर्द हो सकता है। अक्सर काफी पीने वाले लोगों को समय पर काफी नहीं मिलने पर सिरदर्द हो सकता है।

भागदौड़ और तनावभरे जीवन में दिमाग को शांत और तनावमुक्त रखने के लिए सुबह के समय टहलने और ध्यान आदि व्यायाम करना चाहिए। इसके अलावा मल्टीविटामिन और एंटीआक्सीडेंट दवाइयां ली जा सकती हैं। यदि किसी को लंबे समय से सिरदर्द की समस्या है तो उसे किसी विशेषज्ञ चिकित्सक से सलाह लेकर सिटी स्कैन कराना चाहिए, जिससे इस समस्या का मूल कारण पता लग सके। इसके अलावा आंखों की नियमित जांच करानी चाहिए तथा दृष्टिदोष होने पर आंखों का सही नम्बर का चश्मा लेना चाहिए। 



All articles of content editor | All articles of Category

Comments

Leave your comment

Your Name
Email ID
City
Comment
      

Articles






Success